रविवार, 22 जुलाई 2012

हम साथ साथ हैं -प्रथम वर्षगांठ पर विशेष


'' भारतीय नारी ''ब्लॉग की प्रथम वर्षगांठ पर आप सभी योगदानकर्ताओं व् अनुसरनकर्ताओं का हार्दिक धन्यवाद .आपके  सहयोग ;प्रोत्साहन व् दिशा निर्देशन में यह ब्लॉग सफलता के नए आयाम छूता रहेगा ऐसी शुभकामना  के साथ -
                              शिखा कौशिक [व्यवस्थापक -''भारतीय नारी ''] 

विध्वंस में  छिपा  है नव सृजन  का मूल   ;
शाश्वत  है ये नियम मानव न इसे भूल  .
हुई बहिष्कृत ''नारी  'से  तब  सृजित  हुआ  ये मंच  ;
योगदान  सब यहाँ करें नहीं पुरुष  स्त्री प्रपंच .
लक्ष्य  केवल एक था मिले स्त्री को  सम्मान ;
अखिल विश्व में भारत की नारी का हो सम्मान .
योगदानकर्ताओं  ने  दिया  बड़ा  योगदान ;
''रविकर'के ''अतुल'' तेज से फैला ''प्रेम  प्रकाश ''महान ''.

''श्याम'' की मुरली बजी हर्षित हुए ''हरीश '';
''नीलकमल'' विकसित भये ''आशा''मय हुए ''महेश ''.
मिली ''प्रेरणा '' नारी को नवयुग  का हुआ ''अभिषेक ''
''अंकित'' हुए तथ्य नए ''रचना'' हुई अनेक .
'भुवनेश्वरी''की ''वीणा''के सुर ''श्रवण'' करे  ''सुनीता '';
''शास्त्री '' ''दत्त '' व् ''अनवर'' के भावों की बहे सरिता .
''मृदुला''भर ''अंजली''में ''दीप्ति'' करें सभी को ''अशोक '';
''प्रदीप'' ''सवाई'' की ''साधना '' फैलाती आलोक .
''रेखा''और ''कुणाल ''संग ''हरकीरत'' का सहयोग'';
''कनु''संग जुडी ''राजेश'' अदभुत ये संयोग .
मैं सौभाग्य ''शालिनी''मिला आप सभी का हैं साथ  ;
''शिखा  ''कर रही आपका ह्रदय से धन्यवाद .





4 टिप्‍पणियां:

हरकीरत ' हीर' ने कहा…

प्रथम वर्षगांठ की हार्दिक शुभकामनाएं शिखा जी ....!!

डा. श्याम गुप्त ने कहा…

वाह क्या बात है ..शालिनी जी...सुन्दर रचना...

---हम सब साथ साथ हैं...

bhuneshwari malot ने कहा…

aabhar,pratham vershgath per bahut,bahut badhayee.

शिखा कौशिक ने कहा…

आप सभी को भी बधाई .आप सभी इस ख़ुशी में बराबर के हक़दार हैं .