मंगलवार, 15 मई 2012

सिर या पूंछ ..भाई की ऊँची मूंछ !


सिर या पूंछ  ..भाई की ऊँची  मूंछ  !
[google se sabhar ]
 
भाई   ने  देखा  
बहन  खिड़की  पर  खड़ी थी  ;
गरजते  हुए  बोला  -
''शर्म  नहीं आती ?''
चलो हटो  यहाँ  से  ...
ये  अच्छी  लड़कियों  
का चाल -चलन  नहीं होता ''.

बहन तुरंत  हट  गयी  ;
बहन को लगा उससे बहुत  
बड़ी गलती हो गयी  ,
बहन के हटते  ही भाई 
खुद  खड़ा  होकर   देखने  
लगा आने जाने  वाली  लड़कियों को 
और इंतजार करने लगा 
सामने के घर की खिड़की के 
खुलने का  ;
क्योंकि  वहां  रहती है 
एक  लड़की ..जिसे  देखकर  
आँखे  सेक  लेता  है भाई ;
उस  लड़की के खिड़की पर आते ही 
लगातार घूरता रहता  है उसे  
लड़की   को नहीं ये पसंद  
इसीलिए शायद रहती है
 वो खिड़की बंद ;

तब  कहता है भाई  -
''ये  लड़की  खिड़की  पर  आती  ही  नहीं  
इस  सामने  वाली  लड़की  में   
भरा  है  बहुत  घमंड  !!!!

                   शिखा कौशिक 

5 टिप्‍पणियां:

वन्दना ने कहा…

सटीक

रविकर फैजाबादी ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति |

शालिनी कौशिक ने कहा…

sachachai bayan karti bahut sundar prastuti.badhai.

Dr.NISHA MAHARANA ने कहा…

bahut sundar....

शिखा कौशिक ने कहा…

aap sabhi ka hardik dhnyvad .