शुक्रवार, 21 अक्तूबर 2011

ऐसे कुत्तों को करें, अल्लाह-मियां सोझ |

पतित-उधारन बहन, बनी जो निर्मल-गंगा

मुंबई ।। अपनी नव विवाहिता पत्नी को धोखे से वेश्यालय में बेचने की कोशिश कर रहे एक शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पति की कुटिल चालों से अनजान पत्नी को वहां की कॉल गर्ल्स ने ही बचाया---
पतित-पतंगा यह पती, धरती पर बड़-बोझ |
ऐसे  कुत्तों  को करें,  अल्लाह-मियां  सोझ |

अल्लाह-मियां सोझ,  कुकर्मी फल पायेगा |
मिली बहन अनजान, खुदा खुशियाँ लाएगा |

पतित-उधारन बहन,  बनी जो निर्मल-गंगा |
उसका जीवन धन्य,  सड़ेगा पतित-पतंगा ||

1 टिप्पणी:

डा. श्याम गुप्त ने कहा…

सुंदर कुंडली छंद ....