मंगलवार, 28 फ़रवरी 2012

रविकर आशीर्वाद, नए जोड़े को देता ।

रविकर आशीर्वाद, नए जोड़े को देता ।

कुंडली
अच्छे अच्छे लाल से, सीखे सकल समाज ।
सामूहिक दुष्कर्म से, मरे मनुजता लाज ।

मरे मनुजता लाज, दोष क्या उसका भैया ?
चला बराती साज,  वरे दुल्हन को  सैंया ।

रविकर आशीर्वाद, नए जोड़े को देता ।
रहे सदा आबाद, बलैयाँ बम-बम लेता । 

दोहा
   मरे मीडिया मुहुर्मुह, तड़क-भड़क पर रोज ।
 पहल अनोखी को भला, कैसे लेवे खोज ??

6 टिप्‍पणियां:

DR. ANWER JAMAL ने कहा…

Nice post.

see :
गायत्री मंत्र रहस्य भाग 2 The mystery of Gayatri Mantra 2
http://vedquran.blogspot.in/2012/02/2-mystery-of-gayatri-mantra-2_28.html

Dr.NISHA MAHARANA ने कहा…

bahut achcha.

veerubhai ने कहा…

मरे मीडिया मुहुर्मुह, तड़क-भड़क पर रोज ।
पहल अनोखी को भला, कैसे लेवे खोज ??
bahut khoob ravikar जी .

डा. श्याम गुप्त ने कहा…

बढिया...क्या बात ..

veerubhai ने कहा…

सुन्दर भाव चित्र .

शिखा कौशिक ने कहा…

bahut khoob .badhai .YUVRAJ ! WE ARE WITH YOU