रविवार, 19 फ़रवरी 2012

ऐसी घटनाओं के लिए कौन जिम्मेदार ?

नवभारत टाइम्स की वेबसाइट पर यह  खबर पढ़ी   -
''नई दिल्ली।। आउटर डिस्ट्रिक्ट के प्रशांत विहारइलाके में एक स्कूली छात्रा ने अपने साथ हुईछेड़खानी की घटना के बाद आत्महत्या कर ली।बताया जा रहा है कि दो जानकार लड़के रोहिणीनिवासी इस लड़की और इसकी एक सहेली को घूमनेफिरने के बहाने अपने साथ ले गए थे और फिरउन्होंने इस लड़की के साथ छेड़खानी की। शाम कोलड़की अपने घर पहुंची और फिर देर रात उसनेकोई जहरीला पदार्थ पीकर खुदकुशी कर ली। पुलिसने रेप होने की आशंका से इनकार किया है। प्रशांतविहार थाने में किडनैपिंग और छेड़खानी का मामलादर्ज किया गया है। इस मामले में पुलिस एकमहिला और दो लड़कों से पूछताछ कर रही है''
                   यह निश्चित रूप से विचार करने योग्य बात  है  कि ऐसी   घटनाओं  के  लिए  कौन  जिम्मेदार  है .क्या  वे  लड़के या बालक  -बालिकाओं  के लालन-पालनकर्ता ?
                                शिखा कौशिक 
                           

4 टिप्‍पणियां:

Dr.NISHA MAHARANA ने कहा…

bahut jgh aisee ghatnaayen ghat rhi hain aisee isthiti me mata- pita ki bhumika bahut mahatvpurna hai.

lokendra singh rajput ने कहा…

हर किसी की भूमिका है। किसी भी घटना के लिए कोई एक जिम्मेदार नहीं होता।

Suman ने कहा…

हर किसी की भूमिका है। किसी भी घटना के लिए कोई एक जिम्मेदार नहीं होता। yahi sahi hai
aabhar ......

डा. श्याम गुप्त ने कहा…

स्वयं लडकियां जिम्मेदार हैं...आखिर घूमने जाने की क्या आवश्यकता थी.....