सोमवार, 17 जून 2013

तस्वीर के दो रुख -----डा श्याम गुप्त

 जिसका जैसा भाग्य लिखा है,
 वही कर्म का लेख दिखा है |........
ज़िंदगी ,जंग और सफलता -१

ज़िंदगी की  जंग -२
चित्र ...-दैनिक जागरण साभार ....

4 टिप्‍पणियां:

shikha kaushik ने कहा…

जीवन के दोनों रंग
चलना है सबको इनके संग !

सार्थक सन्देश प्रसारित करती पोस्ट .आभार

Dr.NISHA MAHARANA ने कहा…

sacchi bat ...

shyam Gupta ने कहा…

धन्यवाद निशाजी एवं शिखाजी ..

Shalini Kaushik ने कहा…

SARTHAK SANDESH DETI PRASTUTI .AABHAR