शुक्रवार, 12 अप्रैल 2013

तेजाबी हमले का खुलासा -कांधला [शामली ]

शामली : कांधला में दस दिन पहले चार सगी शिक्षिका बहनों समेत पांच लड़कियों पर तेजाब फेंकने की घटना का पुलिस ने खुलासा कर दिया। लड़कियों के बहनोई को साथी समेत गिरफ्तार किया गया है। इस मामले में तेजाब फेंकने वाले दोनों आरोपी अभी पुलिस पकड़ में नहीं आए हैं। पुलिस के मुताबिक, पारिवारिक कलह के चलते बहनोई ने तेजाब कांड की योजना बनाई थी। एसपी ने पुलिस टीम को पांच हजार रुपये नगद पुरस्कार दिया है।
शुक्रवार को एसपी अब्दुल हमीद ने अपने कार्यालय में प्रेसवार्ता कर तेजाब कांड का खुलासा किया। एसपी के मुताबिक, इस केस में पुलिस ने बाबर जंग मोहल्ला गुजरान कांधला हाल निवासी मौजपुर दिल्ली व उसके साथी जावेद निवासी कांधला को गिरफ्तार किया है। बाबर पीड़ित लड़कियों का बहनोई है। बाबर ने अपनी साली इशा को हतोत्साहित करने के लिए साथी जावेद के साथ मिलकर तेजाब फेंकने की योजना बनाई थी। इसके लिए दो युवकों से 40 हजार रुपये में सौदा तय किया था। इसमें 30 हजार एडवांस व दस हजार रुपये घटना के बाद खाते में ट्रांसफर किए गए। जावेद ने अपने मोबाइल से शिक्षिका बहनों के कालेज से निकलने की सूचना तेजाब फेंकने वाले युवकों को दी थी। जावेद का मोबाइल पुलिस ने बरामद कर लिया। तेजाब फेंकने वाले दोनों अभियुक्त अभी फरार हैं। एसपी ने तेजाब कांड का खुलासा करने वाली टीम को पांच हजार रुपये नगद पुरस्कार दिया है। प्रेसवार्ता के दौरान सीओ कैराना सीपी सिंह व कांधला एसओ पंकज वर्मा भी मौजूद रहे। विदित हो कि दो अप्रैल की शाम को कांधला में चार शिक्षिका बहनों कमरजहां, सोनम, इशा व आयशा पर बाइक सवार दो युवकों ने पिचकारी से तेजाब फेंका था। उस समय वे हिंदू इंटर कालेज में परीक्षा ड्यूटी देकर घर जा रही थी। इस दौरान एक अन्य किशोरी अलीशा भी चपेट में आकर तेजाब से झुलस गई थी। इशा का दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में उपचार चल रहा है। आयशा की तरफ से रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी।
इशा थी टारगेट
एसपी अब्दुल हमीद ने बताया कि अेभियुक्तों ने पूछताछ में बताया कि इस केस में इशा को टारगेट बनाकर तेजाब फेंका गया था। इस दौरान साथ चल रही तीनों बहनों व एक किशोरी पर भी तेजाब की छींटे पड़ गए थे।
परिजनों ने किया हंगामा
बाबर की गिरफ्तारी की सूचना पर परिजन गुरुवार रात को एसपी आवास पर पहुंचे और बाबर को निर्दोष बताते हुए खूब हंगामा किया, यहां तक कि परिजनों ने आत्मदाह की चेतावनी भी दे डाली थी। एसपी ने बताया कि परिजनों को इस केस में बाबर के लिप्त होने के साक्ष्य दिखाए गए और परिजनों की बाबर व जावेद से बात कराई गई। इसके बाद परिजन संतुष्ट होकर चले गए।
नहीं बताई कलह की वजह
तेजाब कांड का कारण एसपी ने कलह बताया, लेकिन इसका खुलासा करने से बचे। कई बार पूछने पर भी एसपी ने बस इतना ही कहा कि किसी भी महिला या लड़की के बारे में सार्वजनिक तौर पर कुछ भी कहना सही नहीं है।

3 टिप्‍पणियां:

Brijesh Singh ने कहा…

आपकी यह सुन्दर रचना निर्झर टाइम्स (http://nirjhar-times.blogspot.com) पर लिंक की गयी है और शनिवार दिनांक 13-4-2013 के अंक में प्रकाशित की जाएगी। कृपया इसे देखें और अपने सुझाव दें।

डॉ शिखा कौशिक ''नूतन '' ने कहा…

thanks brijesh ji .

Dr. Sarika Mukesh ने कहा…

ऐसी घटनाएँ मानवता को शर्मसार कर डालती हैं...