शुक्रवार, 14 सितंबर 2012

JeEwAn Ek SaNgHaRsH: कौन है जरूरी..प्यार या दोस्ती? सवाल खुद से और आप स...

JeEwAn Ek SaNgHaRsH: कौन है जरूरी..प्यार या दोस्ती? सवाल खुद से और आप स...: प्यार बड़ी या दोस्ती? सवाल खुद से और आप सबसे ….: ईश्वर ने जब दुनिया बनाई और रिश्तों को एक नई पहचान दी तो उन सबसे बढ़कर दो रिश्ते बनाये.. स...

2 टिप्‍पणियां:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

हिन्दीदिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ!
आपका इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार (15-09-2012) के चर्चा मंच पर भी होगी!
सूचनार्थ!

रविकर फैजाबादी ने कहा…

कुछ शाश्वत सम्बन्ध हैं, परे दोस्ती प्यार ।
स्वार्थ सिद्ध के योग की, करे प्यार मनुहार ।

करे प्यार मनुहार, स्वयं की ख़ुशी मूल है ।
जाता देना भूल, करेगा पर क़ुबूल है ।

किन्तु दोस्ती भाव, परस्पर सुख दुःख देखे ।
सदा प्यार से श्रेष्ठ, दोस्ती मेरे लेखे ।।