बुधवार, 22 अगस्त 2012

महिला न्यूज एंकर भारतीय नारी की छवि से बाहर आ चुकी है-READ THIS POST

2 टिप्‍पणियां:

Sanju ने कहा…

nice presentation....
Aabhar!
Mere blog pr padhare.

डा. श्याम गुप्त ने कहा…

क्या भारतीय नारी की छवि से बाहर आना खुशी की बात है ???? क्या भारतीय नारी की छवि को ..हेय या त्याज्य मानती हैं लेखिका....
--- खुशी की बात यह होनी चाहिए कि अपनी सांस्कृतिक नारी के छवि में रहते हुए प्रगति की जाय ..अपने मूल्यों को त्याग कर नहीं ..
--- लिखिका अभी अपने व्यावसायिक मानसिकता से ऊपर उठकर बाहर..युक्ति-युक्त विचार-ज्ञान भाव में नहीं सकी है...अतः आलेख एकांगी सोच का प्रदर्शन है....