शुक्रवार, 5 जुलाई 2013

क़त्ल करेंगें कहकर वर्ना अल्लाह की ये मर्ज़ी है !!!

middle eastern culture: belly dancer with traditional veil - stock photo
do not copy

मिला मर्द को ऊँचा रुतबा अल्लाह की ये मर्जी है ,
औरत से बढ़कर है ओहदा अल्लाह की ये मर्ज़ी  है !
****************************************

करें हिफाज़त औरत की हम सख्त करें पहरेदारी ,
फ़र्ज़ है उसका करना पर्दा अल्लाह की ये मर्ज़ी है !
***************************************

जब तक दम में दम है बेग़म खिदमत कर तू शौहर की ,
करो बगावत से तुम तौबा अल्लाह की ये मर्ज़ी है !
****************************************

नज़र झुका और सिल ले लब तू , शौहर पर हो जा कुर्बान ,
शौहर के सब जुल्म सहे जा अल्लाह की ये मर्ज़ी है !
******************************************

'नूतन' हद में रहना बेहतर पाबन्दी के बुर्कों में ,
क़त्ल करेंगें कहकर वर्ना अल्लाह की ये मर्ज़ी है !!!



शिखा कौशिक 'नूतन' 

6 टिप्‍पणियां:

Shanti Purohit ने कहा…

बिलकुल सच कहा है

vibha rani Shrivastava ने कहा…

लाज़बाब

shikha kaushik ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
shikha kaushik ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
RAJ ने कहा…

क्या खूब लिखा आपने बढ़िया पोस्ट...........

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

बहुत सुंदर
अच्छी रचना