रविवार, 26 जनवरी 2014

गणतंत्र दिवस का शुभ अवसर


गणतंत्र दिवस का शुभ अवसर ; प्रफुल्लित भारत जन-गण-मन !
गर्वित , हर्षित , आह्लादित है ; भारत भूमि का कण-कण !
..........................................................................
पूर्ण-प्रभुता हमने पाकर इस दिन थी हुंकार भरी ,
राजतन्त्र के महल ध्वस्त कर लोकतंत्र की नींव धरी ,
सकल विश्व ने माना लोहा हम हैं बल-बुद्धि-संपन्न !
गर्वित , हर्षित , आह्लादित है ; भारत भूमि का कण-कण !
..........................................................................
हर भारतवासी ने पाये इस दिन मौलिक छह अधिकार ,
भेदभाव का हुआ अंत न धर्म-लिंग होगें आधार ,
अधिकारों के साथ करें सब निज कर्तव्यों का पालन !
गर्वित , हर्षित , आह्लादित है ; भारत भूमि का कण-कण !
..........................................................................
मिटे गरीबी और अमीरी बीच खुदी गहरी खाई ,
पूँजीवाद को किया किनारे बने समाजवादी भाई ,
भूखा न सो पाये कोई मिले सभी जन को भोजन !
गर्वित , हर्षित , आह्लादित है ; भारत भूमि का कण-कण !

शिखा कौशिक 'नूतन'

5 टिप्‍पणियां:

अर्चना तिवारी ने कहा…

अत्यंत सुंदर अभिव्यक्ति....गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ !!

savan kumar ने कहा…

.गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ !!

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
--
आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल सोमवार (27-01-2014) को "गणतन्त्र दिवस विशेष" (चर्चा मंच-1504) पर भी होगी!
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
६५वें गणतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

shyam Gupta ने कहा…

सुन्दर अभिव्यक्ति ...शुभ गणतंत्र दिवस

Digamber Naswa ने कहा…

भावपूर्ण अभिव्यक्ति ... गणतंत्र दिवस की शुभकामनायें ...