सोमवार, 22 अक्तूबर 2012

टॉइलेट नहीं तो दुल्हन नहीं


टॉइलेट नहीं तो दुल्हन नहीं
केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री जयराम रमेश ने राजस्थान में महिलाओं को संबोधित करते हुए जो कहा है वह सटीक भी है और स्वास्थ्य की दृष्टि से भी सही है -

नई दिल्ली ।। केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री जयराम रमेश ने टॉइलेट से जुड़े विवादित बयान देने का सिलसिला जारी रखते हुए कहा है कि जिन घरों में टॉइलेट न हो उन घरों में लड़कियों को शादी नहीं करनी चाहिए। इसके बाद उन्होंने यह भी कह दिया कि कोई खुले में शौच करे तो उसे जेल भेज देना चाहिए।
राजस्थान के कोटा में एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने स्थानीय महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा, 'आप उन घरों में शादी न करें जहां टॉइलेट न हो।' केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'शादी से पहले आप राहु-केतु और मगंल आदि के बारे में जानकारी लेने के लिए ज्योतिषियों से संपर्क करती हैं। इन सबके साथ ही यह भी जरूर देख लिया कीजिए कि जिस घर में आपकी शादी होने वाली है वहां टॉइलेट है या नहीं। टॉइलेट नहीं तो दुल्हन नहीं।'
                              महिलाओं को जागरूक होकर इस सलाह को न केवल  मानना चाहिए बल्कि  अन्य महिलाओं को भी इस सम्बन्ध में जागरूक करना चाहिए .

                                                          शिखा  कौशिक 'नूतन' 

5 टिप्‍पणियां:

ujjawal trivedi ने कहा…

सटीक बात अच्छा लिखा है

शालिनी कौशिक ने कहा…

right view by jayram ji and shikha ji

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत बढ़िया!
--
दुर्गाष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ!

रविकर ने कहा…

जय माँ |
शुभकामनायें ||

रविकर ने कहा…

बहुत बढ़िया विषय-
बधाई |
तनिक हास-परिहास-
जाती जब बाहर सखी, मन की लूँ बतलाय |
गाँव राँव की चटपटी, न्यूज भी जाती पाय |
न्यूज भी जाती पाय, मर्दवा उसका पागल |
दारु पीकर रोज, बके है उसको अलबल |
छोटी करे ना व्याह, उसे मैया समझाती |
देती सही जवाब, माँ गुस्सा हो जाती ||