शनिवार, 29 दिसंबर 2012

हवन

          हवन
 पंतजलि महिला योग समितिष्बाॅसवाडा द्धारा बलात्कार से पीडित छात्रा की आत्मा की त्रिभुवन में चिरषांति के लिए दयानंद आश्रम में हवन किया गया।ओम् षांति ,ओम् षांति।
       
मेरे खून से धरती को न करो लाल
रक्त की हर बॅूद बनेगी तुम्हारा काल,
खुदा नंे दी जिंदगी रहम करो ,
बेटियों के साथ दुराचार करने वालो
ष्षरम करो।
यंे धरती तुम्हें धिक्कार रही है...............
ष्षरम करो दंुराचारियो ं , षरम करो दंुराचारियो , षरम करो दंुराचारियो
                                 भुवनेष्वरी मालोत
                                  जिला संयोजिका
                                  पंतजलि महिला योग समिति            
                                  बाॅसवाडा राज.

4 टिप्‍पणियां:

डॉ शिखा कौशिक ''नूतन '' ने कहा…

Our thoughts, prayers and love for the young Braveheart.

शालिनी कौशिक ने कहा…

बहुत सही बात कही है आपने .सार्थक अभिव्यक्ति भारत सरकार को देश व्यवस्थित करना होगा .

डा. श्याम गुप्त ने कहा…

आत्मा की शान्ति के साथ साथ ऐसे कर्म ण हों इसके लिए एवं दुष्टों को उचित दंड हेतु भी प्रार्थना करें...

Aditi Poonam ने कहा…

ईश्वर दामिनी की आत्मा को शांति दें और इस भारत भूमि के वासियों को सदबुदधि दें