शुक्रवार, 17 अप्रैल 2015

''कॉलेज जाना है या शादी ब्याह में !''



indian Girls On Mahndi 



''माँ मैं कौन सी पोशाक पहनूं ?'' चिया ने चहकते हुए माँ से पूछा तो माँ ने उदासीन भाव से कहा -'' कुछ भी जो शालीन हो वो पहन लो . चिया ने आर्टिफिशल ज्वेलरी दिखाते हुए माँ से पूछा -'' माँ ये माला का सैट कैसा लगेगा मुझ पर ? माँ ने उड़ती-उड़ती नज़र चिया की ज्वेलरी पर डाली और सुस्त से स्वर में बोली -'' हां...............ठीक-ठाक ही है .'' चिया ने अपने लम्बे नाख़ून जो नेल पॉलिश से सजाये थे माँ की ओर करते हुए कहा - माँ देखो ना कैसे लग रहे हैं !'' माँ ने उखड़ते हुए कहा -'' क्या चिया ...कब से दिमाग खाए जा रही है ....पोशाक , ज्वैलरी ,नाखून ...बेटा एक बार कोर्स की किताबे भी देख ले ...कॉलेज जाना है तुझे कहीं शादी -ब्याह में नहीं ..समझी !'' चिया ने माँ की ओर चिढ़ते हुए देखा और आईने  के सामने के खड़ी  होकर बाल संवारने लगी .

शिखा  कौशिक  'नूतन '

10 टिप्‍पणियां:

Shalini Kaushik ने कहा…

yathrath prastuti .

निर्मला कपिला ने कहा…

har maaM kee kahaanee1

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल रविवार (19-04-2015) को "अपनापन ही रिक्‍तता को भरता है" (चर्चा - 1950) पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

Onkar ने कहा…

सटीक रचना

Sanju ने कहा…

सुन्दर व सार्थक प्रस्तुति..
शुभकामनाएँ।
मेरे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।

dj ने कहा…

सार्थक प्रस्तुति शिखा जी ,
विडम्बना है कि इस दिखावे की दुनिया में
हर माँ की समझदार सलाह पर हर चिया ऐसी
ही बेरुखी भरी प्रतिक्रिया देती है।

dj ने कहा…

आपकी अधिकतर रचनाएँ पढ़ीं शिखा जी लगभग सभी अप्रतिम हैं नारी विषय पर ही एक ब्लॉग बनाने की कोशिश मैंने भी की है और कुछ रचनाये वह मुझ से भी लिखा गई हैं सम्भव हो तो पढ़कर मार्गदर्शन कीजियेगा....
नारी का नारी को नारी के लिए lekhaniblogdj.blogspot.in

dj ने कहा…

सुस्वागतम, शिखा जी! आप का आना बहुत अच्छा लगा। प्रतिक्रिया देने हेतु आभार। कृपया ऐसे ही मार्गदर्शन करते रहिएगा।

ज्योति सिंह ने कहा…

Badhiyaan ,aesa hi hota hai

Sonali Bhatia ने कहा…

आज कल तो इस दुनिया में लोगो की काबिलियत का अन्दाजा भी उनके कपडो
को देखकर लगाया जाता है