गुरुवार, 9 जुलाई 2015

शुभकामनाओं की प्रबल आकांक्षा है !


मेरी लघु-कथाओं का प्रथम संग्रह अंजुमन प्रकाशन [इलाहाबाद ] से शीघ्र ही प्रकाशित हो रहा है .आप सभी की शुभकामनाओं की प्रबल आकांक्षा है !

https://www.facebook.com/anjumanpublication?pnref=lhc
-डॉ. शिखा कौशिक 'नूतन'

15 टिप्‍पणियां:

jyoti khare ने कहा…

बहुत बहुत बधाई और शुभकामनायें --- आपकी लघु कथायें भावपूर्ण और पाठकों को प्रभावित करेंगी
कामना है -----

आग्रह है -- ख़ास-मुलाक़ात

Kavita Rawat ने कहा…

आपको लघु-कथाओं के प्रथम संग्रह पर बहुत बहुत हार्दिक मंगलकामनाएं!

Madhulika Patel ने कहा…

बहुत बहुत शुभ कामनाये

shyam Gupta ने कहा…

शुभ कामनाएं --

Sanju ने कहा…

Very nice post ...
Welcome to my blog on my new post.

गिरिजा कुलश्रेष्ठ ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
गिरिजा कुलश्रेष्ठ ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
गिरिजा कुलश्रेष्ठ ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
गिरिजा कुलश्रेष्ठ ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
गिरिजा कुलश्रेष्ठ ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
गिरिजा कुलश्रेष्ठ ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
गिरिजा कुलश्रेष्ठ ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
गिरिजा कुलश्रेष्ठ ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
गिरिजा कुलश्रेष्ठ ने कहा…

भूल हुई क्षमा करें शिखा जी , आपको बहुत सारी बधाइयाँ .

Sonali Bhatia ने कहा…

ढेर सारी बधाई