बुधवार, 29 जुलाई 2015

बलात्कार तब तक नहीं रुकेंगें


बलात्कार तब तक नहीं रुक सकते
जब तक नहीं रुकेगा
स्त्री को जिम्मेदार ठहराना  और

पुरुष का अपने ही कुकृत्य पर
ठहाका लगाना !

**************************

बलात्कार तब तक नहीं रुक सकते
जब तक नहीं रुकेगा

धर्म गुरु  द्वारा
जनता को 
भटकानाऔर नेताओं का
राजनीति चमकाना .

******************************
बलात्कार तब तक नहीं रुक सकते
जब तक नहीं रुकेगा

पुत्री  पर मर्यादा के
नाम पर प्रतिबन्ध लगाना
और पुत्रों का  संस्कारों से
परिचय न करवाना .


शिखा कौशिक 'नूतन''

3 टिप्‍पणियां:

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत सटीक

अन्तर सोहिल ने कहा…

बहुत सही कहा आपने
nice post

shyam Gupta ने कहा…

वलात्कार तब तक नहीं रुकेंगे
जब तक बसनहीन हीरोइनों/ हीरो की फ़िल्में/
टीवी एड आते रहेंगें
हम देखते रहेंगे |
जिनकी नक़ल में
स्वयं लड़कियां/स्त्रियाँ/ बच्चियां
नंगे बदन घूमती रहेंगीं |