मंगलवार, 15 सितंबर 2020

क्या लोकतांत्रिक सरकार की यही कार्यशैली है ?

 


महाराष्ट्र की राजनीति में इस वक्त भूचाल आया हुआ है।

जिस प्रकार से बीएमसी ने अवैध बताते हुए नोटिस देने के 24 घंटो के भीतर ही एक अभिनेत्री के दफ्तर पर बुलडोजर चलाया और अपने इस कारनामे के लिए कोर्ट में मुंह की भी खाई उससे राज्य सरकार के लिए भी एक असहज स्थिति उत्पन्न हो गई है। इससे बचने के लिए भले ही शिवसेना कहे कि यह बीएमसी का कार्यक्षेत्र है और सरकार का उससे कोई लेना देना नहीं है लेकिन उस दफ्तर को तोड़ने की टाइमिंग इस बयान में फिट नहीं बैठ रही क्योंकि बीएमसी द्वारा इस कृत्य को ऐसे समय में अंजाम दिया गया है जब कुछ समय से उस अभिनेत्री और शिवसेना के एक नेता के बीच जुबानी जंग चल रही थी। लेकिन उससे भी महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि पूरी मुंबई अवैध निर्माण अतिक्रमण और जर्जर इमारतों से त्रस्त है अतिक्रमण की बात करें तो चाहे मुंबई के फुटपाथ हों चाहे पार्क कहाँ अतिक्रमण नहीं है? और जर्जर इमारतों की बात करें तो अभी लगभग दो महीने पहले ही मुंबई में दो जर्जर इमारतों के गिरने से कई लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा और कितने ही घायल हो गए। बरसात के मौसम में मुंबई का डूबना तो अब खबर भी नहीं बनती लोग इसके आदि हो चुके हैं फिर भी कोरोना काल और मानसून के इस मौसम में एक विशेष बिल्डिंग के निर्माण में कानून के पालन को निश्चित करने में बीएमसी की तत्परता ने पूरे देश को आकर्षित कर दिया।

दरअसल यहाँ बात एक अभिनेत्री की नहीं बल्कि बात इस देश के किसी भी नागरिक के संवैधानिक अधिकारों की है। बात किसी तथाकथित अवैध निर्माण को गिरा देने की नहीं है बल्कि बात तो सरकार की अपने देशवासियों के प्रति दायित्वों की है।

हमारे यहाँ कहा जाता है, प्रजासुखे सुखं राज्ञः प्रजानां तु हिते हितं।" अर्थात प्रजा के सुख में राजा का सुख है प्रजा के हित में राजा का हित है।

भारत एक ऐसा देश है जो सदियों ग़ुलामी की जंजीरों में जकड़ा रहा और  जिसकी पीढ़ियों ने इस आज़ादी के लिए संघर्ष किया। आज जब  उस आज़ाद देश में  एक ऐसा अपराधी जो मोस्ट वांटेड है उसकी प्रॉपर्टी सीना ताने खड़ी रहती है लेकिन एक टैक्सपेयर की बिल्डिंग तोड़ दी जाती है। जब कोर्ट द्वारा उस अपराधी की 80 साल पुरानी जर्जर एवं अवैध बिल्डिंग को नेस्तनाबूद करने के एक साल पुराने आदेश के बावजूद मानसून का हवाला देकर उसे हाथ तक नहीं लगाया जाता। जब  30 सितंबर तक कोरोना के चलते किसी भी तोड़ फोड़ पर  सुप्रीम कोर्ट द्वारा रोक लगाई जाने के बावजूद एक महिला की बिल्डिंग पर बुलडोजर चला दिया जाता है। जब सरकार विरोधी रिपोर्टिंग करने के कारण कुछ पत्रकारों को जेल में डाल दिया जाता है।जब सोशल मीडिया पर सरकार विरोधी कुछ सामग्री पोस्ट करने के कारण किसी दल विशेष के कार्यकर्ता एक पुर्व नौसेना अधिकारी पर हिंसक आक्रमण करते हैं तो एक आम आदमी की नज़र में अभिव्यक्ति की आज़ादी, लोकतांत्रिक मूल्यों, संविधान के प्रति आस्था, न्यायालय के आदेशों का सम्मान जैसे शब्दों की नींव ही हिल जाती है। आज जब उस देश में एक महिला के लिए सत्तारूढ़ दल के एक नेता द्वारा  आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग किया जाता है तो जिन महिला अधिकारों महिला सशक्तिकरण महिला अस्मिता जैसे शब्दों का प्रयोग तथाकथित लिबरलस द्वारा किया जाता है उन शब्दों का खोखलापन उभर कर सामने जाता है।

राजनैतिक दृष्टि से भी महाराष्ट्र सरकार द्वारा उठाए जा रहे यह कदम अपरिपक्वता ही दर्शाते हैं। क्योंकि कंगना को भी पूरी तरह सही नहीं कहा जा सकता। जिस प्रकार की भाषा और जिन तेवरों का प्रयोग वो महाराष्ट्र और वहाँ की सरकार के लिए लगातार कर रही थीं वो निश्चित ही अपमानजनक थे। हो सकता है वो जानबूझकर किसी मकसद से ऐसा कर रही हों। लेकिन सत्ता में रहते हुए गुंडागर्दी करना किसी भी परिस्थिति में जायज नहीं ठहराए जा सकते।महाराष्ट्र सरकार की गलती यही रही कि वो कंगना की चाल में फंस गई और कंगना ने पब्लिक की सहानुभूति हासिल कर ली। जबकि महाराष्ट्र सरकार अगर राजनैतिक दूरदृष्टि और समझ रखती तो कंगना की इस राजनीति का जवाब राजनीति से देती अपशब्दों और हिंसा से नहीं इस प्रकार की हरकतों से शिवसेना ने अपना कितना नुकसान किया है उसे शायद अंदाज़ा भी नहीं है। कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाना, सुशांत केस में महाराष्ट्र पुलिस की कार्यशैली, और अब कंगना के बयानों पर हिंसक प्रतिक्रिया।

कहते हैं लोकतंत्र में जनभावनाओं को समझना ही जीत की कुंजी होती है लेकिन शिवसेना लगातार अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मार रही है 1966 में बनी एक पार्टी जिसकी पहचान आजतक केवल एक क्षेत्रीय दल के रूप में है। वो पार्टी जो अपने ही गढ़ महाराष्ट्र में भी एक अल्पमत की सरकार चला रही है। ऐसी पार्टी जो आजतक महाराष्ट्र से बाहर अपनी जमीन नहीं खड़ी कर पाई। एक ऐसी पार्टी जिसकी लोकसभा में उपस्थित मात्र 3.3% है, अपनी इन हरकतों से कहीं महाराष्ट्र में भी अपनी बची कुची जमीन ना गंवा बैठे।

डॉ नीलम महेंद्र

(लेखिका वरिष्ठ स्तंभकार हैं।)

media.ind.in

23 टिप्‍पणियां:

Madhulika Patel ने कहा…

दरअसल यहाँ बात एक अभिनेत्री की नहीं बल्कि बात इस देश के किसी भी नागरिक के संवैधानिक अधिकारों की है। बात किसी तथाकथित अवैध निर्माण को गिरा देने की नहीं है बल्कि बात तो सरकार की अपने देशवासियों के प्रति दायित्वों की है।',,,,,,,',,,,सच बात है, आदरणीया शुभकामनाएँ

Rajnish Roy ने कहा…

आपने अच्छी जानकारी दी है , इसी तरह आप हमलोगो को जानकारी देते रहे। धन्यबाद
अगर आप शायरी पढ़न चाहते है तो हमारे वेबसाइट पर जाये - Dosti Shayari

Manisha Goswami ने कहा…

𝙑𝙚𝙧𝙮 𝙗𝙚𝙖𝙪𝙩𝙞𝙛𝙪 𝙮𝙤𝙪𝙧 𝘿𝙤𝙨𝙩𝙞 𝙎𝙝𝙖𝙮𝙖𝙧𝙞
हमारे ब्लॉग पर भी आइए आपका हार्दिक स्वागत है और अपनी राय व्यक्त कीजिए!

Shantanu Sanyal शांतनु सान्याल ने कहा…

प्रभावशाली निर्भीक लेखन।

Rajnish Roy ने कहा…

Appne bahut hi sundar article likha hai thanks - Visit shayarihd.in!

Rajnish Roy ने कहा…

हमारे ब्लॉग पर भी आइए आपका हार्दिक स्वागत है और अपनी राय व्यक्त कीजिए!Visit Shayariread.com!

Rashmi B ने कहा…

आपने अच्छा लिखा है , सुंदर रचना.

Rajnish Roy ने कहा…

आपने अच्छा लिखा है - Love Shayari in Hindi

Ankityadav ने कहा…

आपने बहुत अच्छी पोस्ट लिखी है. ऐसे ही आप अपनी कलम को चलाते रहे. Ankit Badigar की तरफ से धन्यवाद.

Kailash meena ने कहा…

दिल को छू लेना वाला लेख लिखा है आपने,प्रजातंत्र में जनभावनाओं को समझना ही जीत की कुंजी होती है

MBBS in Philippines ने कहा…

MBBS in Philippines Wisdom Overseas is authorized India's Exclusive Partner of Southwestern University PHINMA, the Philippines established its strong trust in the minds of all the Indian medical aspirants and their parents. Under the excellent leadership of the founder Director Mr. Thummala Ravikanth, Wisdom meritoriously won the hearts of thousands of future doctors and was praised as the “Top Medical Career Growth Specialists" among Overseas Medical Education Consultants in India.

Why Southwestern University Philippines
5 years of total Duration
3D simulator technological teaching
Experienced and Expert Doctors as faculty
More than 40% of the US returned Doctors
SWU training Hospital within the campus
More than 6000 bedded capacity for Internship
Final year (4th year of MD) compulsory Internship approved by MCI (No need to do an internship in India)
Vital service centers and commercial spaces
Own Hostel accommodations for local and foreign students
Safe, Secure, and lavish environment for vibrant student experience
All sports grounds including Cricket, Volleyball, and others available for students

tulsi ने कहा…

Hindi Story
meri baate
Bhoot Ki kahani
Akabar Birbal
MPPSC

Satta King ने कहा…

I would like to thank you for the efforts you had made for writing this awesome article. I found this article extremely helpful. The article was very interesting to read. I appreciate your hard work for writing this awesome article. I do satta work, so please visit my website.
satta king
sattaking

Satta King ने कहा…

The article was very interesting to read. I appreciate your hard work for writing this awesome article. I do satta work, so please visit my website.
satta king
sattaking

Satta King ने कहा…

I found this article extremely helpful. The article was very interesting to read. I appreciate your hard work for writing this awesome article. I do satta work, so please visit my website.
satta king
sattaking

ABHISHEK SHORI ने कहा…

Thanks for informative post. It has been made easy for me

vaidhy ने कहा…

The Vidmate app is a three-in-one utility for playing, downloading, and converting videos. It works with hundreds of streaming websites to provide access to a massive content library for free viewing.

Easy access to HD videos
Vidmate is an app that enables free and quick content downloads from video streaming sites all over the Internet.
Vidmate is primarily a video downloader that offers easy-to-use tools for browsing and downloading media. It covers streaming sites such as Vevo and YouTube, as well as social media.

The UI is quite straightforward. It shows you supported websites for you to choose and find and download the content you want with a single click.

download vidmate apk
Techisq free app download
free mobile app download
9app software
Vidmate latest version
leaked movies download
latest version vidmate
free video vidmate
Job apps work from home jobs
Report: Your phone number reveals more personal info than your name
According to a recent New York Times article, your phone number has loads of personal information attached to it. Quite often, websites and apps ask us for our phone number when logging in or creating an account.

Admin ने कहा…

filmizilla.in and 1sdmoviespoint are the best website for bollywood movies download

Admin ने कहा…

Do you know BPC full form? if no then check here BPC Bollaram Kya hai

Tech2021 ने कहा…

BSF Constable Tradesman Bharti 2022.

Hindi Gyan Blog ने कहा…

In Hindi Gyan Blog, you will be given information about Internet, Investment, Finance and Technology in Hindi language.

sdmoviespoint apk

हरीश कुमार ने कहा…

अत्यंत प्रभावशाली लेख, बहुत-बहुत धन्यवाद

Target Cryptocurrency ने कहा…

In HindiGyanBlog, Blog in Hindi Internet Blog

Bhojpuri Movie Download